• 1/1
No icon

Relationship and Sex

सेक्स के बाद पुरुषों को भी होती हैं ये मुश्किलें

अगर आप यह सोचते हैं कि एक बेहतरीन सेक्स सेशन के बाद पुरुषों की दुनिया में सबकुछ अच्छा-अच्छा ही होता है तो आप गलत हैं। पुरुष अपनी सेक्स लाइफ के बारे में बहुत ज्यादा सोचते हैं, खासकर महिलाओं से तो बहुत ज्यादा... और यही वजह है कि वे इंटरकोर्स के बाद उस पूरे एक्सपीरियंस के बारे में बहुत कुछ सोचते हैं। हमने इस बारे में कुछ पुरुषों से पूछा कि पोस्ट-सेक्स यानी सेक्स के बाद उन्हें कैसा महसूस होता है और क्या वे किसी तरह का प्रेशर खुद पर महसूस करते हैं? आप भी पढ़ें, इन लोगों के जवाब...

बिस्तर पर परफॉर्मेंस की चिंता
'सेक्स के बाद ज्यादातर पुरुष अपनी परफॉर्मेंस के बारे में सोचते हैं। वे अपनी पार्टनर के एक्सप्रेशन्स और बॉडी लैंग्वेज के जरिए यह जानने की कोशिश करने में लगे रहते हैं कि उसके लिए यह पूरा एक्सपीरियंस कैसा रहा और अगर उन्हें यह महसूस हो जाए कि उनकी पार्टनर संतुष्ट नहीं है तो यह इस बात का संकेत होता है कि बिस्तर में उनकी परफॉर्मेंस अच्छी नहीं थी और इस बात की वजह से उनका पूरा दिन बर्बाद हो सकता है और वे इसी चिंता में रहते हैं कि परफॉर्मेंस में सुधार कैसे किया जाए।'

सेक्स के बाद मायूसी
'सिर्फ महिलाएं ही नहीं बहुत से पुरुष भी ऐसे हैं जो पोस्ट-सेक्स यानी सेक्स के बाद अच्छा महसूस नहीं करते हैं। सेक्स सेशन के करीब 40 मिनट बाद तक मुझे उदासी महसूस होती रहती है और यह बेहद सामान्य प्रतिक्रिया है। इसका मतलब यह कतई नहीं है कि मेरा लवमेकिंग सेशन संतोषजनक नहीं था। यह एक अस्थायी अनुभव है जो कुछ वक्त के लिए मेरे साथ रहता है।'

उम्मीदों पर खड़े उतरने का प्रेशर
'मेरी गर्लफ्रेंड चाहती है कि मैं सेक्स के बाद करीब 1 घंटे तक उसको अपनी बाहों पर भरकर रखूं और उससे मीठी-मीठी बातें करूं। ऑफिस में थकान भरे दिन के बाद मेरे लिए यह नामुमकिन हो जाता है कि मैं देर रात तक अपनी आंखें खोलकर रखूं। जिस दिन मैं सेक्स के बाद सो जाता हूं उस दिन गर्लफ्रेंड को लगता है कि मैं उसकी भावनाओं की कद्र नहीं करता।'

क्या साइज से कोई फर्क पड़ता है?
'ईमानदारी से कहूं तो मैं अक्सर अपने प्राइवेट पार्ट के साइज को लेकर आशंकित रहता हूं और अक्सर मैं यह सोचता हूं कि क्या साइज से सचमुच प्लेजर हासिल करने में कोई फर्क पड़ता है या फिर सेक्स पोजिशन्स ज्यादा अहमियत रखते हैं।'

क्या उसने नकली ऑर्गैज्म किया?
'हम सब इस बात से भली भांति परिचित हैं कि महिलाएं कई बार नकली ऑर्गैज्म भी करती हैं। इसलिए जब भी हम उन्हें सामान्य से ज्यादा कराहते या आवाजें निकालते हुए देखते हैं तो हम यही सोचने लग जाते हैं कि क्या उसे सचमुच ऑर्गैज्म महसूस हुआ या फिर वह पार्टनर को सिर्फ खुश करने के लिए बनावटी ऑर्गैज्म कर रही थी।'

हमारे बीच का जोश कहीं खो गया है
'हमारी शादी को 10 साल हो चुके हैं और मैं यह देख रहा हूं कि अब हमारी सेक्स लाइफ से जोश और उत्साह धीरे-धीरे गायब हो रहा है। अब हमारे रिश्ते में वो बात नहीं रही जो पहले हुआ करती थी। अब जब भी हम सेक्स करते हैं तो मैं उस अडवेंचर को मिस करता हूं जो हमारे अंदर पहले हुआ करता था। मुझे लगता है कि बढ़ती उम्र की वजह से हमारी सेक्स लाइफ भी प्रभावित हो रही है।'

Comment