• 1/1
No icon

Sports News

एशिया कप: विराट की गैरमौजूदगी में ऐसा हो सकता है टीम इंडिया का लाइन-अप

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मिली हार को भुलाकर टीम इंडिया एशिया कप में दमदार प्रदर्शन करना चाहेगी। टीम इंडिया की कमान रोहित शर्मा संभाल रहे हैं। विराट कोहली को इस टूर्नमेंट के लिए आराम दिया गया है। भारत का पहला मुकाबला हॉन्ग कॉन्ग से होना है जबकि दूसरी भिड़ंत चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से है। इस बीच टीम इंडिया के लाइन-अप पर कयास लगाए जा रहे हैं। क्रिकेट वेबसाइट क्रिकइंफो ने भी एशिया कप के लिए टीम इंडिया के संभावित लाइनअप के बारे में बताया है।

रोहित और धवन संभालेंगे ओपनिंग
इस टूर्नमेंट में टीम इंडिया का नेतृत्व कर रहे रोहित शर्मा के साथ शिखर धवन एशिया कप में ओपनिंग की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। यदि टीम को बड़ा स्कोर करना है तो किसी एक ओपनर को करीब 30वें ओवर तक क्रीज पर टिकना होगा। हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ भले ही चुनौती आसान हो, लेकिन उसके बाद अभियान मुश्किल होता जाएगा। ऐसे में ओपनरों पर बड़ी जिम्मेदारी होगी।

नंबर-3 पर रायुडु, 4 पर कार्तिक
अंबाती रायुडु का वनडे में ऐवरेज करीब 50 का है और विराट कोहली की गैरमौजूदगी में वह टीम इंडिया के लिए तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतर सकते हैं। उनका स्ट्राइक रेट 76 का है और जिस तरह की फॉर्म उनकी आईपीएल में थी, कुछ ऐसी उम्मीद फैंस कर रहे होंगे। हालांकि तब वह ओपनर के तौर पर उतरे थे। उन्होंने पेस के खिलाफ अपनी तकनीक में काफी सुधार किया है। दिनेश कार्तिक ने इंग्लैंड के खिलाफ हाल में संपन्न सीरीज में 0, 20, 1 और 0 के खराब स्कोर किए लेकिन वनडे में वह कमाल के क्रिकेटर माने जाते हैं। ऐसे में वह नंबर-4 पर उतरे तो टीम के स्कोर में योगदान दे सकते हैं।

नंबर-5 पर धोनी 
कोहली की गैरमौजूदगी में धोनी की भूमिका और जिम्मेदारी काफी अहम रहेगी। वह न केवल मिडिल ऑर्डर की रीढ़ रहेंगे बल्कि जरूरत पड़ने पर 'फिनिशर' की भूमिका भी निभानी पड़ सकती है। धोनी हालांकि नंबर-4 पर बल्लेबाजी को अपनी प्राथमिकता समझते हैं, लेकिन करियर के इस दौर में वह नंबर-5 पर बेहतर साबित हो सकते हैं।

नंबर-6 पर जाधव, 7 पर हार्दिक
दोनों ही ऑलराउंडर हैं और दोनों पर बैट के साथ ही गेंदबाजी में भी कुछ योगदान देने की जिम्मेदारी रहेगी। लंबे समय से भारत 5 गेंदबाजों के साथ उतरता है और पंड्या-पांचवें गेंदबाज होते हैं। वहीं, जाधव को गेंदबाज के तौर पर नहीं, बल्कि अंतिम-10 ओवर में बेहतर बल्लेबाज के तौर पर बेहतर माना जाता है।

लोअर ऑर्डर
4 विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरना टीम इंडिया की पसंद हो सकती है। ऐसे में भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को मौका दिया जा सकता है। हालांकि बुमराह ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में काफी ज्यादा ओवर फेंके थे और यूएई में धूप काफी ज्यादा होगी। ऐसी स्थिति में खलील अहमद पदार्पण कर सकते हैं और लीग मैचों में उन्हें मौका दिया जा सकता है। वहीं, कुलदीप या चहल के बजाय अक्षर पटेल शुरुआती मैचों में खेल सकते हैं।
 

Comment